Latehar News: 23 लाख रुपये का सोलर जलमीनार बनने पर भी ग्रामीण क्षेत्रो में नहीं मिल पा रही है पानी

Raja Vishwakarma
2 Min Read
जलमीनार बनने पर भी 90 घरों में नहीं मिल रहा है पानी

Latehar:- 2010 में, पीएचईडी विभाग ने सदर प्रखंड क्षेत्र के परसही पंचायत में ग्राम होटवाग में 23 लाख रुपये का सोलर जलमीनार बनाया। लेकिन वह..।

Whatsapp Channel Join
Telegram Join

2010 में, पीएचईडी विभाग ने सदर प्रखंड क्षेत्र के परसही पंचायत में ग्राम होटवाग में 23 लाख रुपये का सोलर जलमीनार बनाया। लेकिन उस गाँव के लोगों को तुरंत एक बूंद पानी भी नहीं मिलता है। पानी की कमी से होटवाग गाँव के भुइयां टोली, खरवार टोली, बरटोली और यादव टोली सभी प्रभावित हैं।

- Advertisement -

ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की कमी है। ग्रामवासी लक्ष्मण यादव, रणजीत यादव, विक्रम यादव, मुंशी यादव, सत्येंद्र यादव, शारदा देवी, तपेश्वरी देवी, फुलवंती देवी, प्रमिला देवी और पुष्पा देवी ने कहा कि जलमीनार लगाने के बाद सभी टोलों में पाइप लाइन बिछाकर नल का कनेक्शन कर पानी उपलब्ध कराया गया था, लेकिन कुछ ही दिनों में योजना असफल हो गई।

नल
नल

इस गाँव में 600 से अधिक लोग 80 से 90 घरों में रहते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि ग्रामीणों ने डीसी को तीन वर्ष पहले आवेदन दिया था, जिसके बाद रिपेयरिंग विभाग ने मोटर को लगाया था, लेकिन तीन महीने के अंदर ही मोटर खराब और जर्जर हो गया था।

वहीं जलमीनार भी टूट गए हैं। ग्रामीणों ने बताया कि संवेदकों ने मिलकर धन बाँट लिया। संवेदक ने एक एचपी मोटर ही लगाया जिसे दो एचपी मोटर की जगह जल आपूर्ति करने में सक्षम नहीं था। ग्रामीणों ने बताया कि टोले में कई खराब चापाकल हैं जिनकी मरम्मत भी नहीं हुई है।

- Advertisement -

Also Read: मारवाड़ी महिला संगठन ने गरीब और लाचार परिवारों की बेटी की शादी में किया सहयोग

Share This Article
Follow:
मेरा नाम राजा विश्वकर्मा है और मैं पिछले कुछ महीनो से इस वेबसाइट 'JoharUpdates' में लेखक के रूप में काम कर रहा हूँ। मैं झारखण्ड के अलग-अलग जिलों से खबरों को निकलता हूँ और उन्हें इस वेबसाइट की मदद से प्रकाशित करता हूँ। मैंने इससे पहले कोई और जगहों पर काम किया हुवा है और मुझे लेख लिखने में 2 सालो का अनुभव है। अगर आपको मुझसे कुछ साझा करना हो या कोई काम हो तो आप मुझे "bulletraja123domcanch@gmail.com" के जरिये मुझसे संपर्क कर सकते है।
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *