Ranchi News: सांसद संजय सेठ ने CM को चिठ्ठी लिखकर कहा 22 जनवरी को करे अवकाश घोसित

Devkundan Mehta
3 Min Read
सांसद संजय सेठ ने CM को चिठ्ठी लिखकर कहा 22 जनवरी को करे अवकाश घोसित

Ranchi: सांसद संजय सेठ ने सोमवार को अयोध्या में 22 जनवरी को श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखा है। सांसद ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि झारखंड सरकार को 22 जनवरी को छुट्टी देनी चाहिए। उस दिन मांस और मद्यपान पर भी प्रतिबंध लगाना चाहिए। अपने पत्र में सांसद संजय सेठ ने कहा कि 22 जनवरी भारत के इतिहास में एक महत्वपूर्ण दिन है, जिसे लोग सदियों से इंतजार कर रहे हैं। हम सभी को यह दिन सौभाग्य के रूप में मिल गया है, इतने लंबे संघर्ष, त्याग और तपस्या के बाद।

Whatsapp Channel Join
Telegram Join
22 जनवरी को अवकाश घोषित करे हेमंत सरकार
22 जनवरी को अवकाश घोषित करे हेमंत सरकार

भक्त श्री हनुमान भी झारखंड में पैदा हुआ था

हम अयोध्या में अपने आराध्य रामलला की पुन: प्रतिष्ठा कर रहे हैं। इस दिन को लेकर हमारा गौरव भी बढ़ता है क्योंकि भगवान श्रीराम ने झारखंड (Jharkhand) से अनन्य प्रेम किया है। झारखंड भी भगवान राम के अनन्य भक्त श्री हनुमान की जन्मभूमि है। सांसद ने कहा कि यह दिन निश्चित रूप से हिंदू समाज के लिए नहीं बल्कि पूरे भारत के लिए अमर है। हम संविधान और शासन व्यवस्था में जो रामराज्य की कल्पना करते हैं, वह सदियों के बाद श्री राम की पुनः प्रतिष्ठा होती है। यह शासन और हमारे जनप्रतिनिधियों के लिए भी गौरव की बात है।

- Advertisement -
22 जनवरी को अवकाश घोषित करे हेमंत सरकार
22 जनवरी को अवकाश घोषित करे हेमंत सरकार

अपने पत्र में उन्होंने बताया कि इस तिथि को लेकर पूरा समाज खुद से दीपावली मनाने की योजना बना रहा है। बहुत से सामाजिक और सांस्कृतिक उत्सवों की योजना बनाई जा रही है। मुझे लगता है कि राज्य के मुखिया होने के नाते आप भी इस उत्सव में शामिल होंगे। इस पवित्र और महत्वपूर्ण दिन, मैं आपसे विनती करता हूँ कि 22 जनवरी को झारखंड में राजकीय अवकाश घोषित किया जाए। ताकि हम रामलला के पुनः आगमन का उत्सव और भी भावपूर्ण तरीके से मना सकें, इस दिन मांस-मदिरा की बिक्री भी प्रतिबंधित की जाए।

Also Read: झारखण्ड में मचा हड़कंप, पिछले 1 महीने में तीन कारोबारियों की हत्या

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *