Deoghar News: पंखे से लटकता हुआ मिला एक महिला का शव

Raja Vishwakarma
5 Min Read
एएनएम ममता कुमारी का शव पंखे में फंदे से लटका हुआ बरामद किया

Deoghar:- कृषि मंत्री बादल ने घटना की सूचना मिलते ही सीएचसी के प्रभारी को पत्र लिखा। कृषि मंत्री ने रोती मां और बहन को ढाढ़स बंधाया।

Whatsapp Channel Join
Telegram Join

CCHS के आवासीय क्वार्टर से सोमवार को पुलिस ने CCHS MCH में कार्यरत एएनएम ममता कुमारी का शव पंखे में फंदे से लटका हुआ बरामद किया। ANTM ने फंदे पर लटककर फांसी लगा दी। CHSC ने बताया कि कर्मचारियों ने 10:30 तक काम पर नहीं पहुंचने पर उसके मोबाइल पर फोन लगाया। लेकिन फोन महिला कर्मचारी ने नहीं लिया।

- Advertisement -

इधर कुछ कर्मी तबीयत खराब होने की आशंका पर क्वार्टर पहुचे तो देखा कि दरवाजा बंद है. इस बीच कुछ कर्मियों ने दरवाजे में ठोकर मारा, जिसके बाद दरवाजा खुल गया. कर्मियों ने बताया कि अंदर महिला कर्मी का शव पंखे में फंदा से लटका था, जिसके पैर नीचे पलंग पर था और एक कुर्सी पलंग पर पलट गयी थी. वहीं कुछ दूरी पर स्टील के गमले में गूंथा हुआ आटा पड़ा हुआ मिला.

ANTM ने फंदे पर लटककर फांसी लगा दी
ANTM ने फंदे पर लटककर फांसी लगा दी

इसकी सूचना कर्मियों ने सीएचसी प्रभारी डॉ बीके सिन्हा को दी. वहीं मौके पर सीएचसी प्रभारी ने थाना प्रभारी प्रदीप लकड़ा को भी जानकारी दी. सूचना मिलते ही थाना प्रभारी पुलिस बल के साथ सीएचसी पहुंचे. पुलिस ने इसकी सूचना मृतका के परिजनों को भी दी. सूचना पाकर परिजन सीएचसी पहुंचे. बेटी के शव को देख मां और बहन के साथ अन्य परिजन दहाड़े मार कर रोने लगा, जिसे कर्मियों ने सांत्वना दी और शांत कराया. थाना प्रभारी ने बताया कि मां ने थाने में लिखित आवेदन दिया .

मां ने बेटी के तनाव में रहने की दी जानकारी

आवेदन में मृतका की मां दुमका जिला के हंसडीहा थाना के बनियारा गांव निवासी मंजू देवी ( 60 वर्ष ) ने कहा कि पिता की मृत्यु आठ साल पहले ही हुई थी, जिसके कारण ममता काफी तनाव में रहती थी. भाई नहीं रहने के चलते गांव में मां व छोटी-बहन थी. साथ ही अपनी कमाई का बड़ा हिस्सा घर की देख रेख में खर्च करती थी. बताया कि उसकी शादी 2013 में हुई थी.

- Advertisement -

एक पुत्र नौ वर्ष का व एक पुत्री छह वर्ष की है. उसकी शादी गरीब परिवार में हुई थी. मां ने बताया कि पारिवारिक खर्च पूरा करने के लिए बाजार में कुछ कर्ज हो जाने का कारण पुत्री तनाव में रहने लगी थी. इस लेकर बेटी से बात कि लेकिन हर बार टाल देती थी. 21 जनवरी की रात के करीब नौ बजे उसकी पुत्री दरवाजा बंद करके सो गयी थी. उन्हें पता चला कि उनका दामाद और दोनों बच्चे एक दिन पहले दीप जलाने के लिए हंसडीहा के घर गए थे।

Also Read: गिरिडीह में 2 पक्षों के बीच हुई मारपीट को लेकर कुछ लोग हुए घायल

- Advertisement -
कृषि मंत्री ने रोती मां और बहन को ढाढ़स बंधाया।
कृषि मंत्री ने रोती मां और बहन को ढाढ़स बंधाया।

बादल ने पत्रों को भी अस्पताल भेजा।

कृषि मंत्री बादल ने घटना की सूचना मिलते ही सीएचसी के प्रभारी को पत्र लिखा। कृषि मंत्री ने रोती मां और बहन को ढाढ़स बंधाया। मंत्री ने फोन पर गोड्डा डीसी से बात की और छोटी बहन को गोड्डा की मेघा डायरी में नौकरी दिलाने के लिए कहा. उन्होंने मृतका के नौ वर्षीय बेटे की पढ़ाई में सरकारी मदद भी मांगी।

शव को पुलिस ने जप्त कर पोस्टमार्टम के लिए देवघर भेजा। मृतिका के परिजनों के साथ बीडीओ रजनीश कुमार, सीएचसी प्रभारी डॉक्टर बीके सिन्हा, थाना प्रभारी प्रदीप लकड़ा, जेएसआई उमेश कुमार, गुरुदयाल सब्बर, एएसआई आनंद कुमार सिंह, डॉ सुबोध कुमार वर्मा, डॉ जैकी शेखर, डॉ राजेश रंजन, समाजसेवी संजय राय, पंसस संजीव रंजन, विक्रम पत्रलेख और छोटू कुमार उपस्थित थे।

- Advertisement -

Also Read: नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर बच्चों ने निकाली परभात फेरी

Share This Article
Follow:
मेरा नाम राजा विश्वकर्मा है और मैं पिछले कुछ महीनो से इस वेबसाइट 'JoharUpdates' में लेखक के रूप में काम कर रहा हूँ। मैं झारखण्ड के अलग-अलग जिलों से खबरों को निकलता हूँ और उन्हें इस वेबसाइट की मदद से प्रकाशित करता हूँ। मैंने इससे पहले कोई और जगहों पर काम किया हुवा है और मुझे लेख लिखने में 2 सालो का अनुभव है। अगर आपको मुझसे कुछ साझा करना हो या कोई काम हो तो आप मुझे "bulletraja123domcanch@gmail.com" के जरिये मुझसे संपर्क कर सकते है।
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *