Khunti News: माँ-बेटी की जोड़ी बस से कर रही थी गांजा की तस्करी, पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा

Suraj Kumar
3 Min Read
माँ-बेटी की जोड़ी को पुलिस ने गांजा की तस्करी करते किया गिरफ्तार

Khunti: झारखंड के खूंटी में एक बस से एक माँ-बेटी की जोड़ी कर रही थी गांजा तस्कर पुलिस ने 20 किलोग्राम गांजा के साथ पकड़ा है। गांजा सूखी मछली को पैकेट में रखकर पंजाब ले जा रही थी। दोनों को इस दौरान पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में तोरपा थाना क्षेत्र शामिल है।

Whatsapp Channel Join
Telegram Join

गांजा तस्करी मामले में ACP को गुप्त सूचना मिलते ही तोरपा थाना पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल की है। जो थाना क्षेत्र के कुल्डा के पास गिरफ्तार किया गया। जिसके पास से 20 किलोग्राम गांजा के 20 पैकेट बरामद हुए हैं। DSP ने बताया कि मां बेटी फिलहाल पंजाब में रहते हैं। दोनों गांजा तस्कर मां-बेटी सिमडेगा से रांची मंत्री बस से जा रही थी। गांजा तस्करी करते हुए मां बेटी को इसी क्रम में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।

- Advertisement -
गांजा की तस्करी
गांजा की तस्करी

DSP क्रिस्टोफर केरकेट्टा ने बताया कि सिमडेगा जिला के जलडेगा थाना अंतर्गत गांगुटोली निवासी 45 वर्षीय गीता देवी और 21 वर्षीय पिंकी कुमारी रांची से सिमडेगा चलने वाली मंत्री नामक यात्री बस से सिमडेगा से पंजाब के करतारपुर जाने की योजना बना रहे हैं।

Also read: हेमंत सोरेन के सोशल मीडिया चैट ने उठाया झूठ से पर्दा ‘जाने पूरी खबर’

अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी तोरपा क्रिस्टोफर केरकेट्टा ने बताया कि खूंटी SP अमन कुमार को गुप्त सूचना मिली कि मंत्री नामक बस से गांजा तस्करी की जा रही है। प्राप्त जानकारी के आधार पर, तोरपा थाना क्षेत्र के कुल्डा जंगल के निकट बस को रोककर तलाशी ली गई। जिसमें एक तस्कर ने 20 किलो गांजा, 2 स्मार्टफोन और एक बैंक पासबुक बरामद किए हैं।

- Advertisement -
गांजा की तस्करी पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा
गांजा की तस्करी पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा

मां और बेटी दोनों ने गांजा तस्करी की। पुलिस ने पाया कि गांजा की खेप के साथ एक सूखी मछली भी एक बैग के ऊपरी हिस्से में छुपाई गई थी। ताकि लोगों को गांजा का महक नहीं मिल सके और तस्करी आसानी से हो सके। गीता देवी और पिंकी कुमारी पंजाब के करतारपुर में रहते हैं और पिछले तीन वर्षों से गांजा तस्करी कर रहे हैं। थाना प्रभारी तोरपा मनीष कुमार, विवेक प्रशांत, विश्वजीत ठाकुर, महती बोपाई सेलबीना भेंगरा और अंशिला भेंगरा इस छापामारी दल में शामिल थे।

Also read: किसानों की पहली पसंद बनी जैविक खेती, रासायनिक खाद से बढ़ी दुरी

- Advertisement -
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *