Khunti News: कई अपराधों में संदिग्ध नक्सली को पुलिस ने किया गिरफ्तार ‘जाने पूरी खबर’

Suraj Kumar
3 Min Read
कई आपराधिक मामले में संदिग्ध उग्रवादी को पुलिस ने पकड़ा

Khunti: रनिया थाना के अंधुवाइल मोड़ के पास बुधवार को पुलिस ने प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (PLFI) की सक्रिय और कई मामलों में वांछित उग्रवादी सनिका कंडुलना, उर्फ बच्चा उर्फ चकरा, को गिरफ्तार कर लिया।

Whatsapp Channel Join
Telegram Join

अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ख्रिस्टोफर केरकेट्टा ने गुरुवार को तोरपा में अपने कार्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि जिले के पुलिस अधीक्षक अमन कुमार को गुप्त सूचना मिली कि रनिया थाना क्षेत्र में फरार कुख्यात उग्रवादी सनिका कंडुलना है। SP ने सूचना के आधार पर तोरपा के SDPO के नेतृत्व में पुलिस टीम बनाई।

- Advertisement -
नक्सली को पुलिस ने किया गिरफ्तार
नक्सली को पुलिस ने किया गिरफ्तार

हाता-पाई और 17 CLA कानून के तहत 6 मामले दर्ज किये गए है

टीम में सशस्त्र बल के जवान, तोरपा अंचल के पुलिस निरीक्षक दिग्विजय सिंह, रनिया के थाना प्रभारी सत्यजीत कुमार, पुलिस अवर निरीक्षक सुनील कुमार मेहता और SDP ख्रिस्टोफर केरकेट्टा शामिल थे। मोदी सरकार और नेटा डिसूजा ने अग्निपथ योजना से देश के लाखों युवा लोगों को ठगा..। 12 फरवरी तक, राजभवन के दिलकश उद्यान को 15524 लोगों ने देखा..। 150000 रुपये के लिए पहले बच्चे का अपहरण किया, फिर मार डाला, अब..। बुधवार को अंधुवाइल मोड़ के पास पुलिस ने सनिका को पकड़ लिया।

Also read: कई महीनो की मुसकत के बाद पुलिस को मिली कामयाबी, ट्रेनों में चोरी करने वाले 17 लोग गिरफ्तार

SDPO ने बताया कि सनिका उर्फ बच्चा के खिलाफ खूंटी जिले के रनिया, सिमडेगा जिले के कोलेबिरा और बानो और पश्चिमी सिंहभूम जिले के आनंदपुर थाने में हत्या, रंगदारी, पुलिस के साथ मुठभेड़ और 17 CLA एक्ट के तहत छह मामले दर्ज किए गए हैं। पुलिस ने उसे काफी समय से खोज रहा था।

- Advertisement -
नक्सली को पुलिस ने किया गिरफ्तार
नक्सली को पुलिस ने किया गिरफ्तार

हाता-पाई के बाद वह गिरफ्तार किये गए

सनिका 2019 में PLFI उग्रवादी सामुएल कंडुलना के दस्ते में शामिल था, जैसा कि SDPO ने बताया। 2019 में वह कानारोवां गांव में पुलिस और उग्रवादियों के बीच हुई झड़प में गिरफ्तार हुआ था। उस संघर्ष में पंडित नामक एक उग्रवादी मारा गया था। 202 में जेल से रिहा होने के बाद वह रोरे उर्फ सुखराम गुड़िया के दस्ते में आ गया। सुखराम को एके47 गोली उसने ही दी थी। सुखराम गिरफ्तारी के बाद हरियाणा भाग गया। वह छिपकर रहने के लिए दिसंबर 2023 में अपने गांव रनिया थाना के उड़ीकेल बड़काटोली लौट आया।

Also read: कई राज्य में 12 से 15 फरवरी तक हो सकती है बारिश ‘जाने मौसम का हाल’

- Advertisement -
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *