Palamu News: 14 बड़े जलाशयों में भरा जाएगा पानी, इस पानी को सिंचाई और पेयजल के लिए भी कि जाएगा उपयोग

Sahil Kumar
3 Min Read
14 बड़े जलाशयों में भरा जाएगा पानी इस पानी को सिंचाई और पेयजल के लिए भी कि जाएगा उपयोग

Palamu: सांसद वीडी राम ने कहा कि पलामू में अंडरग्राउंड पाइप लाइन सिंचाई परियोजना को लागू करने के लिए कदम उठाए गए हैं। झारखंड मंत्रिमंडल ने 456 करोड़ 62 लाख 61 हजार रुपये की योजना को मंजूरी दी है।

Whatsapp Channel Join
Telegram Join

औरंगा नदी, उत्तरी कोयल और सोन नदी से 31.397 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी पाइप लाइन में पड़ने वाले 14 बड़े जलाशयों में भरा जाएगा। इस पानी को सिंचाई और पेयजल के लिए भी उपयोग किया जाएगा। इससे महत्वपूर्ण राहत मिलेगी।

- Advertisement -

Also read : Palamu News: राज्य के मुख्य सचिव को नोटिस, बागेश्वर धाम सरकार की कथा मामले में हाईकोर्ट में सुनवाई

बुधवार को अपने आवासीय परिसर मेदिनीनगर में पलामू सांसद ने प्रेस से बातचीत करते हुए कहा कि सोन नदी से जल देवरी कला से कल्याणपुर, उत्तरी कोयल से कल्याणपुर और औरंगा नदी से जल मनिका प्रखंड के रांकी कला से उठाया जाएगा।

Water jet
Palamu News: 14 बड़े जलाशयों में भरा जाएगा पानी, इस पानी को सिंचाई और पेयजल के लिए भी कि जाएगा उपयोग 3

सोनी नदी से 7.47 मिलियन क्यूबिक मीटर, उत्तरी कोयल से 4.498 मिलियन क्यूबिक मीटर तथा औरंगा नदी से 19.429 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी छतरपुर के बतरे, विश्रामपुर के धनकई व ताली, छतरपुर के सुखनदिया व करमा कला डैम, चैनपुर के रानीताल, टमराईन व बुटनडूबा डैम तथा सतबरवा के मलय, पोस्तीया नाला, पनघटवा,

- Advertisement -

सांसद ने कहा कि पलामू प्रमंडल में पर्याप्त पानी नहीं है। यहाँ औसत वर्षापात 1163 मिमी है। पर्याप्त जल उपलब्ध कराने और सिंचाई के लिए पर्याप्त जल उपलब्ध कराने के लिए एकीकृत बिहार के समय से ही कई योजनाएं शुरू की गईं हैं।

लेकिन कम बारिश होने के कारण जलाशयों में जल नहीं बचता है। बरसात के दौरान अधिकांश पानी अनावश्यक रूप से बहता है। जुलाई से अक्तूबर तक, भूमिगत पाइपलाइन के माध्यम से नदी का जल उठाकर पलामू जिले के विभिन्न जलाशयों में भरा जाएगा, इससे समाधान मिलेगा।

- Advertisement -

Also read : Dhanbad News: धनबाद वासियों के लिए अच्छी खबर, अब आप जान सकेंगे आपका पानी कितना शुद्ध है

उनका कहना था कि राज्य सरकार या केंद्र सरकार को निर्माण राशि की व्यवस्था करेगी। उन्हें बताया गया कि गढ़वा में इसी तरह की योजना का सत्तर प्रतिशत काम पूरा हो चुका है।

- Advertisement -
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *