नेतरहाट आवासीय विद्यालय का 70वां स्थापना दिवस मनाया गया

Sandeep Sameet
2 Min Read

Latehar: 15 नवंबर को, प्रसिद्ध नेतरहाट आवासीय विद्यालय का 70 वां स्थापना दिवस मनाया गया। तत्कालीन बिहार सरकार ने 15 नवंबर 1954 को भगवान बिरसा मुंडा के जन्मदिन पर नेतरहाट आवासीय विद्यालय की स्थापना की। मुख्य अतिथि एम्स देवघर के प्रो. (डॉ.) सौरभ वार्ष्णेय, नेतरहाट विद्यालय कार्यकारिणी समिति के सभापति संतोष उरांव और प्राचार्य डॉ. प्रसाद पासवान ने विद्यालय के 70वें स्थापना दिवस पर मुख्य भवन में भगवान बिरसा मुंडा की सुंदर प्रतिमा का अनावरण किया। विद्यालय के ओवल मैदान में कार्यक्रम की शुरुआत हुई। विद्यालय के विद्यार्थियों ने उत्कृष्ट मार्च पास्ट किया।

Whatsapp Group Join
Instagram Join

विद्यालय के योग दल के छात्रों ने व्यायाम प्रशिक्षक वसंत तिकीं के निर्देशन में सामूहिक योग प्रदर्शन किया। विद्यालय के प्रेक्षागृह में स्थापना दिवस पर एक विशेष बैठक हुई। कार्यक्रम के विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया गया. रि. ह… अंकित मूरमू और केशव कुमार को इंद्र पदक, विशाल कुमार को स्व रमाकांत गजानन मराठे चल पदक, विवास कुमार को विनोद स्मृति पदक, शौर्य परासर को राजीव पदक और शिवम कुमार मंडल को दीपक स्मृति पदक। पूर्ववर्ती छात्र संघ ने पत्र लेखन प्रतियोगिता में शिवशंकर दयाल को प्रथम, शंशक राज को द्वितीय और अभिषेक कुमार को तृतीय स्थान दिया. विजेता को नगद पुरस्कार दिया गया। विद्यालय की वार्षिक पत्रिका सर्जना का विमोचन इस अवसर पर हुआ।

- Advertisement -
2 60
नेतरहाट आवासीय विद्यालय का 70वां स्थापना दिवस मनाया गया 3

नेतरहाट के छात्रों का अनुशासन प्रशंसनीय है

कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए प्रो. (डॉ.) सौरभ वार्ष्णेय ने कहा कि नेतरहाट आवासीय विद्यालय में आना उनका सौभाग्य है। नेतरहाट स्कूल के विद्यार्थियों के अनुशासन और दिनचर्या की उन्होंने प्रशंसा की। वे भी इसी विद्यालय के पूर्व विद्यार्थी थे, कहा विशिष्ट अतिथि कार्यकारिणी समिति के सभापति संतोष उरांव। इस अवसर पर प्राचार्य डॉ. प्रसाद पासवान ने स्कूल की उपलब्धियों का वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया और स्कूल को आगे बढ़ाने का अपना संकल्प दोहराया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों में विधु शेखर देव के निर्देशन में बोधायन द्वारा लिखित और नेमिचंद्र द्वारा अनुदित भगवद ज्जुकम का प्रदर्शन हुआ।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *