झारखंड में नवंबर से 13664 स्कूलों में बैगलेस डे होगा

Tannu Chandra
3 Min Read
झारखंड में नवंबर से 13664 स्कूलों में बैगलेस डे होगा

यह कार्यक्रम कक्षा छह से आठ तक के बच्चों के लिए चलाया जाएगा

Ranchi: झारखंड में 13664 माध्यमिक स्कूलों में नवंबर से बैगलेस डे मनाया जाएगा। शनिवार को शिक्षा विभाग यह योजना शुरू करने जा रहा है. इसका उद्देश्य बच्चों को स्कूल के बस्ते के बोझ से छुटकारा देना और व्यावसायिक शिक्षा की ओर उनका रुझान बढ़ाना है।

Whatsapp ChannelJoin
TelegramJoin

यह कार्यक्रम राज्य के 13664 स्कूलों में क्लास 6 से 8 तक पढ़ने वाले बच्चों को उपलब्ध कराया जाएगा। स्कूलों में शनिवार को बैगलेस डे होगा. इस दिन मिडिल स्कूलों के 1472615 बच्चे बिना बैग के स्कूल आएंगे और अतिरिक्त करिकुलर एक्टिविटीज में भाग लेंगे।

11 प्रकार की व्यावसायिक शिक्षा दी जाएगी

बैगलेस डे पर छात्रों को स्कूलों में योग, व्यायाम और खेलकूद कार्यक्रमों के अलावा ग्यारह तरह की व्यावसायिक शिक्षा दी जाएगी। इसके लिए, स्कूल प्रबंधन छात्रों को हर बैगलेस डे के दिन औद्योगिक भ्रमण पर ले जाएगा।

बच्चों को स्कूल के आसपास स्थित औद्योगिक क्षेत्रों और विभिन्न व्यावसायिक क्षेत्रों का दौरा कराया जाएगा। उन्हें सिर्फ कला और क्रॉफ्ट, क्रॉकरी और गीत-संगीत की जानकारी मिलेगी। इसके बाद, ये व्यावसायिक विषय पाठ्यक्रम में शामिल होंगे।

मास्टर ट्रेनरों को प्रशिक्षण

झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद ने व्यावसायिक शिक्षा और बैगलेस डे को लेकर व्यापक तैयारी की है। सभी जिलों में मास्टर ट्रेनर इसके लिए प्रशिक्षित हैं। 19 अक्टूबर तक प्रत्येक जिले में तीन-तीन मास्टर ट्रेनर को ट्रेनिंग दी जाएगी, फिर वे अपने-अपने जिलों में भेजे जाएंगे। ये मास्टर ट्रेनर वहां जाकर अपने जिले के शिक्षकों को ट्रेनिंग देंगे।

बच्चे व्यावसायिक पाठ्यक्रम में भाग लेने से बहुत कुछ सीखेंगे—स्वप्निल कुजूर

झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद के प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर स्वप्निल कुजूर ने कहा कि छठी, सातवीं और आठवीं क्लास के विद्यार्थी बैगलेस डे में भाग लेंगे। उन्हें ग्यारह विभिन्न प्रकार की व्यावसायिक शिक्षा दी जाएगी।

2 6 7
झारखंड में नवंबर से 13664 स्कूलों में बैगलेस डे होगा 3

इन व्यावसायिक पाठ्यक्रमों को मास्टर ट्रेनर प्रदान करते हैं। उनका कहना था कि आज के समय में बच्चों का संपूर्ण विकास भी जरूरी है। यह शुरू हो रहा कार्यक्रम बच्चों को कौशल बनाने और व्यावसायिक शिक्षा का महत्व बताने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

Categories

Share This Article
Follow:
मैं Tannu Chandra, मुझे ऑटोमोबाइल "बाइक्स" में पिछले 3 वर्षो का अनुभव है, मुझे बाइक्स और गाड़िओ का ब्लॉग लिखना बहुत पसंद है इसलिए मैं India07.com में एक राइटर के रूप में काम कर रही हूँ और बचे समय में Joharupdates के लिए अपने आस-पास के न्यूज़ को भी साझा कर देती हूँ।
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *