Giridih News: शहर के छोटे-छोटे गलियों में नाली से आती है गंदी बांस, बीमारी का शिकार होते है लोग

Basant Yadav
2 Min Read
नली से निकलने वाली गंदी बांस से लोग हो रहे है परेशान

Giridih:- गिरिडीह के छोटे-छोटे गलियों में नालियों से गंदी बास आ रही है, जिससे लोगों का जीना मुश्किल हो गया है। नालियों में भरा गंदा पानी और कचरा बीमारियों का कारण बन रहा है।

Whatsapp ChannelJoin
TelegramJoin

स्थानीय निवासियों का कहना है कि नालियों की सफाई नियमित रूप से नहीं होती है, जिसके कारण उनमें गंदगी जमा हो जाती है। बारिश के पानी से यह गंदगी सड़कों पर बह जाती है और लोगों को परेशानी होती है। गंदे पानी और कचरे से मच्छर और अन्य हानिकारक जीव पनपते हैं, जो बीमारियों का कारण बनते हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि पिछले कुछ दिनों में कई लोग डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया जैसी बीमारियों से पीड़ित हुए हैं।

स्थानीय निवासियों का कहना है कि नालियों की सफाई नियमित रूप से नहीं होती है
स्थानीय निवासियों का कहना है कि नालियों की सफाई नियमित रूप से नहीं होती है

स्थानीय लोगों का आरोप है कि नगरपालिका नालियों की सफाई और गंदगी की समस्या को दूर करने में लापरवाही बरत रही है। उन्होंने कई बार नगरपालिका से शिकायत की है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है। स्थानीय लोगों ने नगरपालिका से नालियों की नियमित सफाई करवाने और गंदगी की समस्या को दूर करने की मांग की है। उन्होंने यह भी कहा कि नगरपालिका को मच्छरों और अन्य हानिकारक जीवों को मारने के लिए अभियान चलाना चाहिए।

यह घटना नगरपालिका की लापरवाही और शहर की खराब स्वच्छता व्यवस्था को दर्शाती है। नागरपालिका को इस समस्या का जल्द से जल्द समाधान करना चाहिए ताकि लोगों को बीमारियों से बचाया जा सके। हम स्थानीय निवासियों की इस मांग का समर्थन करते हैं और नगरपालिका से शीघ्र कार्रवाई करने का आग्रह करते हैं।

Also Read: अन्नपूर्णा देवी ने दिया उलगुलान न्याय महारैली पर बड़ा बयान, सुनकर हो जायेगे हैरान

Categories

Share This Article
Follow:
हेलो मेरा नाम बसंत है और मैं एक फुल टाइम ब्लोगर हूँ, मुझे टेक्नोलॉजी और ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री का 5 सालो का अनुभव है और मैं इस साइट पर ऑटो से रिलेटेड लेटेस्ट न्यूज़ लिखता हूँ, आप मुझे मेरे इंस्टाग्राम पर फॉलो कर सकते है मेरे पर्सनल लाइफ को देखने के लिए लिंक निचे मिल जायेगा।
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *